ब्रिक्स का फुल फॉर्म क्या है | What is BRICS Full Form in Hindi

What is BRICS Full Form

What is BRICS Full Form, BRICS Countries, Currency, Headquarters, Objective, BRICS Summit 2023, BRICS Countries Purpose and Importance

Table of Contents

ब्रिक्स ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका इन पांच प्रमुख उभरती अर्थव्यवस्थाओं का एक महत्वपूर्ण समूह है। 2001 में, अर्थशास्त्री जिम ओ’नील द्वारा चार सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं: ब्राजील, रूस, भारत और चीन को नामित करने के लिए संक्षिप्त नाम BRIC दिया गया।

2010 में, दक्षिण अफ्रीका संगठन में शामिल हुआ और संक्षिप्त नाम बदलकर ब्रिक्स (BRICS) कर दिया गया। ब्रिक्स देश सभी अपने संबंधित क्षेत्रों में महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं और वैश्विक अर्थव्यवस्था में योगदानकर्ता हैं। वे दुनिया की 40% से अधिक आबादी, दुनिया की आय के एक चौथाई से अधिक और दुनिया के प्राकृतिक संसाधनों के एक महत्वपूर्ण हिस्से के लिए जिम्मेदार हैं।

What is BRICS Full Form | ब्रिक्स का फुल फॉर्म है

BRICS का फुल फॉर्म (BRICS Full Form) » Brazil, Russia, India, China, South Africa है।

BBrazil
RRussia
IIndia
CChina
SSouth Africa

BRICS Objective | ब्रिक्स उद्देश्य

ब्रिक्स देशों ने आपस में आर्थिक सहयोग और विकास को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न सहकारी परियोजनाओं और संस्थानों की स्थापना की है, जैसे ब्रिक्स बिजनेस काउंसिल और न्यू डेवलपमेंट बैंक जिसे पहले ब्रिक्स डेवलपमेंट बैंक के नाम से जाना जाता था। इसके अलावा, वे वार्षिक सम्मेलनों में भाग लेते हैं जहाँ वे व्यापार, जलवायु परिवर्तन और अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर अपनी स्थिति का समन्वय करते हैं।

हालांकि ब्रिक्स देश बड़ी आबादी और तेजी से आर्थिक विकास जैसी कई विशेषताओं को साझा करते हैं, लेकिन वे अनूठी चुनौतियों का सामना करते हैं और उनके अलग राजनीतिक और सांस्कृतिक इतिहास हैं। नतीजतन, ब्रिक्स देशों के बीच सहयोग मुश्किल हो सकता है, लेकिन उनकी सामूहिक ताकत दिखाई दे रही है और आने वाले वर्षों में राजनीतिक और आर्थिक दोनों क्षेत्रों में उनका प्रभाव बढ़ने की संभावना है।

ब्रिक्स हाइलाइट्सविवरण (Description)
ब्रिक्स का फुल फॉर्म (BRICS Full Form)ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका
ब्रिक्स का मुख्यालय (BRICS Headquarters)ब्रिक्स टॉवर, शंघाई, पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना
ब्रिक्स देश (BRICS Members)ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका
ब्रिक्स की स्थापना (Establishment of BRICS)16 जून 2009

BRICS Headquarters | ब्रिक्स मुख्यालय

BRICS Full Form

ब्रिक्स के मुख्यालय विभिन्न सदस्य देशों में स्थित हैं, जो इस प्रकार हैं:

  • न्यू डेवलपमेंट बैंक (एनडीबी): न्यू डेवलपमेंट बैंक जिसे पहले ब्रिक्स डेवलपमेंट बैंक के नाम से जाना जाता था, जिसका मुख्यालय शंघाई, चीन में है।
  • आकस्मिक आरक्षित व्यवस्था (CRA): CRA ब्रिक्स देशों द्वारा एक दूसरे को अल्पकालिक तरलता सहायता प्रदान करने के लिए स्थापित एक वित्तीय सुरक्षा जाल है, जिसका मुख्यालय मास्को, रूस में है।
  • ब्रिक्स व्यापार परिषद: ब्रिक्स व्यापार परिषद ब्रिक्स देशों के बीच व्यापार और निवेश को बढ़ावा देने के लिए एक तंत्र है, जिसका मुख्यालय दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग में स्थित है।
  • ब्रिक्स अकादमिक फोरम: यह ब्रिक्स देशों के बीच अकादमिक सहयोग को बढ़ावा देने के लिए समर्पित विश्वविद्यालयों और अनुसंधान संस्थानों का एक नेटवर्क है। फोरम की अध्यक्षता एक घूर्णन अध्यक्ष द्वारा की जाती है, जिसमें प्रत्येक सदस्य देश अपने कार्यकाल के दौरान बैठक की मेजबानी करता है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ऊपर सूचीबद्ध परियोजनाओं और संगठनों के अलावा, ब्रिक्स देशों की कई अन्य पहलें और संस्थाएं हैं जिनके मुख्यालय विभिन्न सदस्य देशों या विदेशी स्थानों में स्थित हो सकते हैं।

BRICS Countries | ब्रिक्स देश

ब्रिक्स पांच प्रमुख उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं का एक समूह है जिसे दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं का नाम दिया गया है। ब्रिक्स देश इस प्रकार हैं।

  • ब्राजील: ब्राजील, दक्षिण अमेरिका का सबसे बड़ा देश, एक विविध अर्थव्यवस्था है जिसमें विनिर्माण, कृषि और तेल और खनिज जैसे प्राकृतिक संसाधन शामिल हैं।
  • रूस: भूमि क्षेत्र के हिसाब से रूस दुनिया का सबसे बड़ा देश है, इसके तेल और पेट्रोलियम क्षेत्र द्वारा संचालित एक अत्यधिक विकसित अर्थव्यवस्था है।
  • भारत: भारत तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था के साथ दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश है जिसमें विनिर्माण, कृषि और सूचना प्रौद्योगिकी और आउटसोर्सिंग जैसी सेवाएं शामिल हैं।
  • चीन: चीन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था और दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है। यह निर्यात, विनिर्माण उद्योग और तकनीकी विकास के लिए प्रसिद्ध है।
  • दक्षिण अफ्रीका: दक्षिण अफ्रीका, अफ्रीका का सबसे दक्षिणी देश, एक विविध अर्थव्यवस्था है जिसमें उद्योग, पर्यटन और खनन शामिल हैं।

BRICS Countries Purpose and Importance | ब्रिक्स देश उद्देश्य और महत्व

BRICS Members

ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका (ब्रिक्स) देश अंतरराष्ट्रीय संबंधों, अर्थशास्त्र और वैश्विक शासन में कई मायनों में महत्वपूर्ण हैं। ब्रिक्स कैसे महत्वपूर्ण है, इसके कुछ उदाहरण यहां दिए गए हैं:

Economic Importance | आर्थिक महत्व

ब्रिक्स देश दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक हैं और वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद के एक बड़े हिस्से के लिए जिम्मेदार हैं। उनके पास बड़े और बढ़ते उपभोक्ता बाजार हैं, साथ ही प्रचुर मात्रा में कच्चा माल, ऊर्जा और अन्य संसाधन हैं। ब्रिक्स ने आपस में आर्थिक सहयोग और विकास को बढ़ावा देने के लिए कई सहकारी परियोजनाओं और संगठनों का निर्माण किया है।

Geopolitical Significance | भू राजनीतिक महत्व

ब्रिक्स राष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय मामलों में अधिक महत्वपूर्ण हो गए हैं और अपने गृह क्षेत्रों में प्रमुख शक्तियाँ हैं। हालांकि ब्रिक्स देशों की राजनीतिक प्रणालियां, रीति-रिवाज और दृष्टिकोण बहुत विविध हैं, वे सभी बहुध्रुवीयता को बढ़ावा देने और वैश्विक शासन प्रणाली को बदलने की इच्छा साझा करते हैं।

Strategic Importance | सामरिक महत्व

ब्रिक्स देशों के पास लाभप्रद भौगोलिक स्थान और विशाल सैन्य और कूटनीतिक क्षमताएं हैं। उन्होंने रक्षा, ऊर्जा और अंतरिक्ष अन्वेषण जैसे उद्योगों में कई महत्वपूर्ण साझेदारियां और गठबंधन स्थापित किए हैं।

Developmental Significance | विकासात्मक महत्व

ब्रिक्स देशों में दुनिया की आबादी का एक बड़ा हिस्सा है और उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य और गरीबी में कमी जैसे मानव विकास संकेतकों में महत्वपूर्ण प्रगति की है। उन्होंने सतत विकास और सामाजिक प्रगति के लिए कई पहल और संगठन स्थापित किए हैं।

BRICS Summit 2023 | ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2023

हर साल पांच ब्रिक्स देशों – ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के नेता ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में मिलते हैं। शिखर सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य व्यापार, राजनीतिक समन्वय और आर्थिक सहयोग जैसे सामान्य हित के मुद्दों पर चर्चा करना है। 2023 ब्रिक्स शिखर सम्मेलन (15वां) 22 से 24 अगस्त को दक्षिण अफ्रीका के जोहान्सबर्ग में हुआ।

ब्रिक्स देशों के समूह में छह नए देश शामिल हो गए हैं – अर्जेंटीना, मिस्र, इथियोपिया, ईरान, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात, जिससे ब्रिक्स परिवार बढ़ गया है। दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने गुरुवार (24 अगस्त) को कहा कि हमने अर्जेंटीना, मिस्र, इथियोपिया, ईरान, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात को ब्रिक्स का पूर्ण सदस्य बनाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि नए सदस्य एक जनवरी 2024 से ब्रिक्स के स्थायी सदस्य बन जायेंगे।

How did the family of BRICS grow | ब्रिक्स का कुनबा कैसे बढ़ा?

ब्रिक्स पांच विकासशील देशों ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका का एक समूह है जो दुनिया की 41 प्रतिशत आबादी, 24 प्रतिशत वैश्विक जीडीपी और 16 प्रतिशत वैश्विक व्यापार का प्रतिनिधित्व करता है। अब जब 1 जनवरी, 2024 से अर्जेंटीना, मिस्र, इथियोपिया, ईरान, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात औपचारिक रूप से समूह का हिस्सा होंगे, तो समूह में शामिल देशों की संख्या बढ़ जाएगी। इसका मतलब है कि ब्रिक्स परिवार बड़ा हो गया है।

ब्रिक्स में शामिल होने के लिए कुल 23 देशों ने आवेदन किया था, जिनमें से ईरान, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और अर्जेंटीना समूह की सदस्यता के प्रबल दावेदार बनकर उभरे।

BRICS Countries and their GDP

ब्रिक्स क्या हैं और इसका उद्देश्य क्या है?

ब्रिक्स दुनिया की प्रमुख उभरती बाजार अर्थव्यवस्थाओं, अर्थात् ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के शक्तिशाली समूह के लिए एक संक्षिप्त शब्द है। ब्रिक्स तंत्र उद्देश्य शांति, सुरक्षा, विकास और सहयोग को बढ़ावा देना है।

ब्रिक्स का मुख्यालय कहां है?

ब्रिक्स टॉवर, शंघाई, पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना

ब्रिक्स में भारत की क्या भूमिका है?

भारत ब्रिक्स शिखर सम्मेलनों और समूह के अन्य कार्यक्रमों में सक्रिय रूप से भाग लेता है, ब्रिक्स एजेंडे में महत्वपूर्ण योगदान देता है, जिसका उद्देश्य आर्थिक विकास और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बढ़ावा देना है।

ब्रिक्स में सबसे कमजोर देश कौन सा है?

जिन स्तंभों में दक्षिण अफ्रीका ब्रिक्स देशों में सबसे खराब स्थान पर है, वे हैं स्वास्थ्य और प्राथमिक शिक्षा, श्रम बाजार की दक्षता और बाजार का आकार। अन्य ब्रिक्स सभी वैश्विक शीर्ष दस अर्थव्यवस्थाओं में रैंक करते हैं, हालांकि दक्षिण अफ्रीका एक विश्वसनीय 40 वें स्थान का प्रबंधन करता है, जो पिछले वर्ष से (Countries by GDP 2022/2023) अपरिवर्तित है।

ब्रिक्स 2023 की थीम क्या है?

ब्रिक्स और अफ्रीका: पारस्परिक रूप से त्वरित विकास, सतत विकास और समावेशी बहुपक्षवाद के लिए साझेदारी।

15वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2023 का मेजबान कौन सा शहर था?

15वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2023 का मेजबान दक्षिण अफ्रीका का जोहान्सबर्ग शहर था।

2023 में कितने देश ब्रिक्स में शामिल हुए?

2023 में अर्जेंटीना, मिस्र, इथियोपिया, ईरान, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात ये छह देश ब्रिक्स में शामिल हुए।

Leave a Comment